Wednesday, May 29th, 2024

दूसरे चरण में MP की जिन 6 सीटों पर होनी है वोटिंग, जानिए उनका गणित, कांग्रेस-BJP कौन किस पर भारी

भोपाल /नई दिल्ली

 मध्य प्रदेश में लोकसभा चुनाव के दूसरे चरण में 6 सीटों पर 80 प्रत्याशियों की किस्मत का फैसला होना है. इसके लिए मतदान 26 अप्रैल 2024 (शुक्रवार) को होगा. इस बार चुनाव मैदान में 75 पुरुष उम्मीदवार, 4 महिला उम्मीदवार और एक थर्ड जेंडर प्रत्याशी हैं.

साल 2019 की तुलना में होशंगाबाद (नर्मदापुरम) छोड़ कर सभी सीटों पर उम्मीदवारों की संख्या कम हुई है. टीकमगढ़ में सबसे कम सात प्रत्याशी मैदान में हैं. बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष विष्णु दत्त शर्मा की सीट खजुराहो पर भी सेकंड फेज में ही वोटिंग होनी है.

विधानसभा चुनाव में हारे सांसद इस बार मैदान में
होशंगाबाद सीट से कांग्रेस प्रत्याशी संजय शर्मा के पास सबसे ज्यादा संपत्ति है. नवंबर 2023 में विधानसभा चुनाव हार चुके सांसद गणेश सिंह को सतना सीट से पार्टी ने एक बार फिर से मैदान में उतारा है. उनकी किस्मत का फैसला भी 26 अप्रैल को ईवीएम (EVM) में कैद होगा.

बता दें, लोकसभा चुनाव के पहले चरण में मध्य प्रदेश की जबलपुर, छिंदवाड़ा, बालाघाट, मंडला, सीधी और शहडोल संसदीय सीट पर मतदान 19 अप्रैल को हो चुका है. दूसरे चरण की 6 सीटों दमोह, टीकमगढ़, खजुराहो, सतना, रीवा और होशंगाबाद में 26 अप्रैल को मतदान होना है. इन सीटों पर कुल 80 प्रत्याशी चुनाव मैदान में हैं.

दूसरे चरण की 6 लोकसभा सीटों पर ये नेता
दूसरे चरण की 6 सीटों में चुनाव लड़ने वाले प्रमुख नेताओं में बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष विष्णु दत्त शर्मा भी शामिल हैं. खजुराहो सीट पर उनका मुकाबला फॉरवर्ड ब्लॉक (AIFB) के राजा भैया प्रजापति से है. शर्मा पहली बार साल 2019 में खजुराहो सीट से चुनाव जीतकर लोकसभा में पहुंचे थे. इसी तरह केंद्रीय मंत्री वीरेंद्र खटीक टीकमगढ़ (एससी आरक्षित) सीट से चुनाव लड़ रहे हैं. साल 2008 में परिसीमन के बाद अलग हुए इस निर्वाचन क्षेत्र में हुए सभी तीन चुनावों में खटीक ने जीत हासिल की है.

कांग्रेस ने इस सीट से पंकज अहिरवार को मैदान में उतारा है. बीजेपी ने सतना से गणेश सिंह और रीवा से जनार्दन मिश्रा को फिर से टिकट दिया है. होशंगाबाद लोकसभा सीट से दर्शन सिंह और दमोह से राहुल लोधी जैसे नए चेहरों को मैदान में उतारा है. कांग्रेस ने सतना से मौजूदा विधायक सिद्धार्थ कुशवाह, रीवा से पूर्व विधायक नीलम मिश्रा, होशंगाबाद से पूर्व विधायक संजय शर्मा और दमोह से पूर्व विधायक तरवर सिंह लोधी को मैदान में उतारा है.

सतना में सबसे ज्यादा निर्दलीय उम्मीदवार
निर्वाचन आयोग के आंकड़े बताते हैं कि साल 2019 की तुलना में इनमें होशंगाबाद छोड़ सभी सीटों पर उम्मीदवारों की संख्या कम हुई है. टीकमगढ़ में सबसे कम सात प्रत्याशी मैदान में हैं, जबकि पिछले चुनाव में यहां से 14 कैंडिडेट अपनी किस्मत आजमा रहे थे. रीवा, सतना, खजुराहो और होशंगाबाद सीट पर एक-एक महिला प्रत्याशी भी चुनाव मैदान में हैं. इसी तरह दमोह से एक ट्रांसजेंडर दुर्गा मौसी भी चुनौती दे रही हैं. सबसे अधिक नौ निर्दलीय उम्मीदवार सतना में हैं.

साल 2019 के लोकसभा चुनाव में 101 उम्मीदवार इन छह सीटों पर मैदान में उतरे थे.इस बार इनकी संख्या 80 है,जबकि पहले चरण की छह सीटों जबलपुर, छिंदवाड़ा, बालाघाट, मंडला, सीधी और शहडोल पर 88 उम्मीदवार मैदान में थे.साल 2019 में इनमें भाजपा-कांग्रेस के प्रत्याशी छोड़ बाकी सभी की जमानत जब्त हो गई थी.

80 में से 26 उम्मीदवार करोड़पति
निर्वाचन आयोग में कैंडिडेट द्वारा दिए गए हलफनामे से पता चला है कि दूसरे चरण की 6 लोकसभा सीटों पर चुनाव लड़ने वाले 26 प्रत्याशी करोड़पति हैं. जबकि,17 प्रत्याशी 10वीं पास भी नहीं हैं. होशंगाबाद सीट से कांग्रेस प्रत्याशी संजय शर्मा के पास सबसे ज्यादा 232 करोड़ की संपत्ति है. दूसरे नंबर पर रीवा से कांग्रेस प्रत्याशी नीलम मिश्रा हैं, जिनकी संपत्ति 34 करोड़ रुपये है. सतना से सांसद और बीजेपी प्रत्याशी गणेश सिंह के पास 9 करोड़ रुपये की संपत्ति है. दूसरे चरण में दो डॉक्टर भी अपनी किस्मत आजमा रहे हैं. कुल 80 में से 9 प्रत्याशियों पर आपराधिक मामले दर्ज हैं. वहीं, पांच पर गंभीर आपराधिक केस हैं.

इसके अलावा, तीन प्रत्याशी सिर्फ पांचवीं पास हैं. 9 उम्मीदवार ऐसे हैं जो 12वीं पास हैं. 8 कैंडिडेट 10वीं पास हैं.13 प्रत्याशी स्नातक, 21 प्रत्याशी स्नातकोत्तर हैं. सात ग्रेजुएट प्रोफेशनल हैं.

लोकसभा चुनाव के पहले चरण का मतदान समाप्त हो चुका है। पहले चरण में शुक्रवार (19 अप्रैल) को 21 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के 102 लोकसभा क्षेत्रों में मतदान हुआ। लोकसभा चुनाव के लिए अब 6 अन्य चरण (26 अप्रैल, 7 मई, 13 मई, 20 मई, 25 मई और 1 जून) शेष हैं। जबकि पूरे देश में मतगणना 4 जून को होगी। पहले चरण में सबसे ज्यादा सीट पर मतदान हुआ। अब 2024 के आम चुनाव के दूसरे चरण का मतदान 26 अप्रैल को होगा।

इस चरण में 13 राज्यों के 89 लोकसभा क्षेत्रों में मतदान होगा। जिन राज्यों में 26 अप्रैल को मतदान होने जा रहा है उनमें असम, बिहार, छत्तीसगढ़, कर्नाटक, केरल, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, मणिपुर, राजस्थान, त्रिपुरा, उत्तर प्रदेश, पश्चिम बंगाल और जम्मू-कश्मीर शामिल है।

यहां जानें सभी डिटेल्स

मतदान की तारीख

- 18वें आम चुनाव के दूसरे चरण का मतदान 26 अप्रैल को होगा।

निर्वाचन क्षेत्र

- इस चरण में 13 राज्यों की 89 सीटों पर मतदान होगा।

कहां-कहां होगा मतदान?

- असम के पांच सीटों करीमगंज, सिलचर, मंगलदोई, नवगोंग और कलियाबोर पर मतदान होगा।

- बिहार के किशनगंज, कटिहार, पूर्णिया, भागलपुर और बांका में वोट डाल जाएंगे।

- छत्तीसगढ़ के राजनांदगांव, महासमुंद और कांकेर में मतदान होगा।

- जम्मू एवं कश्मीर में एक सीट जम्मू में 26 को वोट डाले जाएंगे।

- कर्नाटक के उडुपी चिकमंगलूर, हसन, दक्षिण कन्नड़, चित्रदुर्ग, तुमकुर, मांड्या, मैसूर, चामराजनगर, बेंगलुरु ग्रामीण, बेंगलुरु उत्तर, बेंगलुरु सेंट्रल, बेंगलुरु दक्षिण, चिकबल्लापुर और कोलार में वोट डाले जाएंगे।

- केरल के कासरगोड, कन्नूर, वटकारा, वायनाड, कोझिकोड, मलप्पुरम, पोन्नानी, पलक्कड़, अलाथुर, त्रिशूर, चलाकुडी, एर्नाकुलम, इडुक्की, कोट्टायम, अलाप्पुझा, मावेलिककारा, पथानामथिट्टा, कोल्लम, अटिंगल और तिरुवनंतपुरम में मतदान होगा।

- मध्य प्रदेश के टीकमगढ़, दमोह, खजुराहो, सतना, रीवा, होशंगाबाद और बैतूल में वोट डाले जाएंगे।

- महाराष्ट्र के बुलढाणा, अकोला, अमरावती (एससी), वर्धा, यवतमाल-वाशिम, हिंगोली, नांदेड़ और परभणी में मतदान होगा।

- मणिपुर के आउटर मणिपुर लोकसभा सीट पर वोट डाले जाएंगे।

- राजस्थान के टोंक-सवाई माधोपुर, अजमेर, पाली, जोधपुर, बाड़मेर, जालौर, उदयपुर, बांसवाड़ा, चित्तौड़गढ़, राजसमंद, भीलवाड़ा, कोटा और झालावाड़-बारां में वोट डाले जाएंगे।

- त्रिपुरा के त्रिपुरा ईस्ट लोकसभा सीट पर वोट डाले जाएंगे।

- उत्तर प्रदेश के अमरोहा, मेरठ, बागपत, गाजियाबाद, गौतमबुद्ध नगर, अलीगढ, मथुरा और बुलंदशहर में वोटिंग होगी।

- पश्चिम बंगाल के दार्जिलिंग, रायगंज और बालुरघाट में मतदान होगा।

इन सीटों पर नजर

आम चुनाव के दूसरे चरण में कुछ हाई-प्रोफाइल सीटें शामिल हैं। इनमें मथुरा से 'ड्रीम गर्ल' हेमा मालिनी अपनी तीसरी जीत की उम्मीद कर रही हैं। वहीं, मेरठ से बीजेपी ने 'रामायण' सीरियल के अभिनेता अरुण गोविल को मैदान में उतारा है। बिहार में पूर्णिया भी इस चरण में सबसे चर्चित लोकसभा सीटों में से एक है, क्योंकि यहां पप्पू यादव एक निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में चुनावी मैदान में उतरे हैं।

उनका मुकाबला JDU और I.N.D.I.A. गठबंधन दोनों से है। इसके अलावा दक्षिण में केरल की वायनाड सीट पर कांग्रेस सांसद राहुल गांधी, सीपीआई की एनी राजा और बीजेपी केरल के अध्यक्ष के सुरेंद्रन के बीच त्रिपक्षीय मुकाबला होगा।

वायनाड की तरह तिरुवनंतपुरम में भी त्रिकोणीय मुकाबला होने वाला है। यहां मौजूदा सांसद डॉ. शशि थरूर को केंद्रीय मंत्री राजीव चंद्रशेखर और CPI के दिग्गज पन्नियन रवींद्रन से चुनौती मिलेगी। वहीं, राजस्थान की कोटा सीट से लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला फिर से बीजेपी के उम्मीदवार हैं।

Source : Agency

आपकी राय

9 + 2 =

पाठको की राय