Tuesday, April 23rd, 2024

एट्रोसिटी एक्ट के बारे में कथित टिप्पणियों के लिए FIR दर्ज की गई

मुंबई

पुलिस ने कहा कि SC-ST (एट्रोसिटी एक्ट- अत्याचार निवारण अधिनियम) के दुरुपयोग के दावों के साथ भावनाओं को आहत करने के आरोप में मराठी एक्ट्रेस केतकी चितले के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। 25 फरवरी को महाराष्ट्र के बीड जिले के परली में ‘ब्राह्मण एक्य परिषद’ कॉन्फ्रेंस में बोलते हुए, मराठी एक्ट्रेस ने कथित तौर पर पिछले पांच वर्षों में अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति (अत्याचार निवारण) अधिनियम के तहत दर्ज मामलों की जांच करने की मांग की ताकि पता चल सके कि उनमें से कितने असली थे। केतकी ने कहा- अधिकार अधिनियम के तहत इस बात की जानकारी प्राप्त की जानी चाहिए।

ऐसा इसलिए, क्योंकि अत्याचार अधिनियम के तहत झूठे मामले दर्ज करने का एक रैकेट बन गया है। एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि लोकल रेसिडेंट प्रेमनाथ जगतकर ने ऑनलाइन भाषण सुनने के बाद परली शहर पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज कराई। अधिकारी ने बताया कि केतकी चितले और कॉन्फ्रेंस के आयोजक बाजीराव धर्माधिकारी के खिलाफ गुरुवार को भारतीय दंड संहिता की धारा 295-ए (धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाना) और 505 (2) (वर्गों के बीच दुश्मनी पैदा करने वाले बयान) के तहत फर्स्ट इनफार्मेशन रिपोर्ट दर्ज की गई। हालांकि मामले में कोई गिरफ्तारी नहीं हुई है। केतकी चितले को 2022 में सोशल मीडिया पर ठउढ प्रमुख शरद पवार के बारे में अपमानजनक पोस्ट साझा करने के आरोप में गिरफ्तारी का सामना करना पड़ा था। इस मामले में बाद में उन्हें जमानत भी मिल गई थी।

Source : Agency

आपकी राय

8 + 3 =

पाठको की राय