Wednesday, May 29th, 2024

रिपोर्ट - MDH और एवरेस्ट में प्रोडक्ट्स में पेस्टिसाइड की मात्रा ज्यादा, कैंसर होने का खतरा

नईदिल्ली
 भारत की दिग्गज मसाला कंपनियों को बड़ा झटका लगा है। कारोबार के साथ ही इनकी साख पर भी संकट खड़ा हो गया है। दरअसल, हॉन्गकॉन्ग ने MDH प्राइवेट लिमिटेड और एवरेस्ट फूड प्रोडक्ट्स लिमिटेड यानी एमडीएच मसाले और एवरेस्ट मसाले के करी मसालों की बिक्री पर बैन लगा दिया है। दोनों कंपनियों के इन प्रोडक्ट्स में कार्सिनोजेनिक पेस्टिसाइड एथिलीन ऑक्साइड की ज्यादा मात्रा होने के कारण यह फैसला लिया गया। यह एक तरह का कीटनाशक है। मीडिया रिपोर्ट्स में दावा किया जा रहा है कि इन प्रोडक्ट्स में इस पेस्टिसाइड की ज्यादा मात्रा से कैंसर होने का खतरा है। हॉन्गकॉन्ग से पहले सिंगापुर के अधिकारियों ने भी इसी वजह के चलते एवरेस्ट के फिश करी मसाले को बाजार से वापस मंगाने का आदेश जारी किया था।

MDH के 3 और एवरेस्ट के 1 मसाला मिक्स में कीटनाशक

हॉन्गकॉन्ग के फूड सेफ्टी डिपार्टमेंट की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि MDH ग्रुप के तीन मसाला मिक्स- मद्रास करी पाउडर , सांभर मसाला पाउडर और करी पाउडर में कार्सिनोजेनिक पेस्टिसाइड एथिलीन ऑक्साइड की मात्रा ज्यादा पाई गई। वहीं रुटीन सर्विलांस प्रोग्राम के तहत एवरेस्ट के फिश करी मसाला में भी यह पेस्टिसाइड पाया गया है।

कैंसर के लिए जिम्मेदार

इंटरनेशनल एजेंसी फॉर रिसर्च ऑन कैंसर ने एथिलीन ऑक्साइड को ग्रुप 1 कार्सिनोजेन के रूप में क्लासिफाई किया है। फूड रेगुलेशन के अनुसार, ह्यूमन कंजम्पशन के लिए पेस्टिसाइड वाले फूड सिर्फ तभी बेचे जा सकते हैं, जब फूड स्वास्थ्य के लिए खतरनाक या हानिकारक न हों।

सिंगापुर में एवरेस्ट करी मसाले को बाजार से वापस मंगाया

इससे पहले सिंगापुर के अधिकारियों ने एवरेस्ट के फिश करी मसाला को बाजार से वापस मंगाने का आदेश जारी किया था। तय सीमा से ज्यादा एथिलीन ऑक्साइड की मात्रा के कारण ऐसा किया गया था। एथिलीन ऑक्साइड एक कीटनाशक है। सिंगापुर इस मसाले को भारत से इम्पोर्ट करता है। सिंगापुर फूड एजेंसी (SFA) ने इम्पोर्टर SP मुथैया एंड संस को रिकॉल प्रोसेस शुरू करने का निर्देश दिया। भारत की कंपनी एवरेस्ट के प्रोडक्ट 80 से ज्यादा देशों में सप्लाई किए जाते हैं।​

नेस्ले के बेबी फूड्स प्रोड्क्ट्स में एक्स्ट्रा शुगर

इससे पहले बीते दिन FMCG कंपनी नेस्ले (Nestle) के बेबी फूड्स प्रोड्क्ट्स में एक्स्ट्रा शुगर मिलने की बात सामने आई थी। स्विट्जरलैंड की पब्लिक आई और इंटरनेशनल बेबी फूड एक्शन नेटवर्क ( IBFAN ) ने अपनी रिपोर्ट में कहा था कि नेस्ले भारत सहित एशिया और अफ्रीका के देशों में बिकने वाले बेबी प्रोडक्ट में अतिरिक्त शक्कर मिलाती है। भारत सरकार ने भी इस मामले में संज्ञान लिया है। फूड सेफ्टी एंड स्टैंडर्ड्स अथॉरिटी ऑफ इंडिया (FSSAI) ने कहा कि पब्लिक आई एंड इंटरनेशनल बेबी फूड एक्शन नेटवर्क की रिपोर्ट के आरोपों की जांच की जाएगी। FSSAI ने कहा कि इसे वैज्ञानिक पैनल के सामने रखा जाएगा।

 एमडीएच मसाले और एवरेस्ट मसाले हॉन्कॉन्ग में बैन एमडीएच मसाले सिंगापुर में बैन  एवरेस्ट मसाले सिंगापुर में बैन एमडीएच मसाले और एवरेस्ट मसाले सिंगापुर में बैन एमडीएच मसाले हॉन्कॉन्ग में बैन

Source : Agency

आपकी राय

1 + 6 =

पाठको की राय