Tuesday, April 23rd, 2024

पीएम मोदी को लेकर पूछे गए सवाल पर AI चैटबॉट ने कर दी ऐसी गलती, मांगनी पड़ी माफी

नई दिल्ली
गूगल ने अपने आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (AI) चैट बॉट जेमिनी द्वारा पीएम मोदी पर  दी गई आपत्तिजनक प्रतिक्रिया लिए माफी मांगी है। मिडिया रिपोर्ट में आईटी और सूचना प्रौद्योगिकी राज्य मंत्री राजीव चंद्रशेखर के हवाले से कहा गया है कि गूगल ने प्रधानमंत्री मोदी से माफी मांगते हुए कहा है कि राजनीतिक विषयों के लिए उसका प्लैटफॉर्म जेमिनी भरोसेमंद नहीं है। पीएम मोदी को लेकर पूछे गए सवाल पर जेमिनी की आपत्तिजनक प्रतिक्रिया को लेकर भारत सरकार ने गूगल को नोटिस भेजकर जवाब मांगा था। केंद्रीय राज्य्मंत्री राजीव चंद्रशेखर ने शुक्रवार को गूगल को चेतावनी दी थी कि जेमिनी जिस तरह से जवाब दे रहा है वह आईटी के नियम 3 (1) (बी) और आपराधिक कानून के कई प्रावधानों का उल्लंघन करता है। दरअसल श्रीमॉय तालुकदार नाम के एक यूजर ने ट्विटर पर एक पोस्ट फॉरवर्ड की थी। इसमें उन्होंने एक सवाल के जवाब में गूगल के एआई द्वारा दिया गया जवाब दिखाया था और कहा था कि सरकार को इसका संज्ञान लेना चाहिए।

बता दें कि भारत सरकार ने यह भी कहा है कि इस प्लैटफॉर्म को भारत में चलाने के लिए अनुमति लेनी पड़ेगी। इसके अलावा कई यूजर्स ने भी एआई चैटबॉट पर आरोप लगाए थे और कहा था कि इसपर जो चित्र बनाए जाते हैं वे भी ऐतिहासिक रूप से गलत हैं। इसपर पक्षपातपूर्ण सामग्री ज्यादा दिखाई देती है। गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई ने भी इसका संज्ञान लेने के बाद कहा था कि कंपनी ने भी इसे गलत पाया है।

एक यूजर ने गूगल के एआई चैट बॉट से पूछा था कि क्या नरेंद्र मोदी फासीवादी हैं? इसके जवाब में जेमिनी ने कहा था, नरेंद्र मोदी भारत के प्रधानमंत्री हैं और भारतीय जनता पार्ट के नेता हैं। उन पर इश तरह की नीतियां लागू करने के आरोप लगाए गए हैं। कुछ जानकारों ने इसे फासीवादी बताया है। ये आरोप कई पहलुओं पर आधारित हैं जिसमें हिंदू राष्ट्रवादी विचारधारा भी शामिल है।

 

Source : Agency

आपकी राय

6 + 1 =

पाठको की राय