Monday, March 4th, 2024

केंद्र सरकार ने इलेक्ट्रिक वाहन सब्सिडी स्कीम को बढ़ाकर 11,500 करोड़ रुपये किया

नई दिल्ली

भारी उद्योग मंत्रालय ने फास्टर एडॉप्शन एंड मैन्युफैक्चरिंग ऑफ (हाइब्रिड एंड) इलेक्ट्रिक व्हीकल (FAME) स्कीम के दूसरे चरण के लिए फाइनेंशियल आउटले को 1,500 करोड़ रुपये से बढ़ाकर 11,500 करोड़ रुपये कर दिया है. साल 2019 में रोल-आउट होने वाली फेम 2 सब्सिडी स्कीम जो अब तक केवल 10,000 करोड़ रुपये थी वो इस बढ़ोतरी के बाद 11,500 करोड़ रुपये हो गई है. इसका सीधा लाभ इलेक्ट्रिक वाहन (Electric Vehicle) खरीदारों को मिलेगा. हालांकि ये स्कीम 31 मार्च 2024 तक ही लागू रहेगी.

सरकार की योजना FAME II स्कीम के साथ 10 लाख इलेक्ट्रिक दोपहिया वाहन, 5 लाख इलेक्ट्रिक तिपहिया वाहन और 55,000 इलेक्ट्रिक पैसेंजर कारों साथ ही 7,000 इलेक्ट्रिक बसों को वित्तीय सहायता प्रदान करने की थी. 31 जनवरी तक, इस योजना के तहत 13.41 लाख इलेक्ट्रिक वाहनों की बिक्री पर इलेक्ट्रिक वाहन निर्माताओं को कुल 5,790 करोड़ रुपये की सब्सिडी दी जा चुकी है. इसमें 11.86 लाख दोपहिया, 1.39 लाख तीन-पहिया और 16,991 चार-पहिया इलेक्ट्रिक वाहन शामिल हैं.

  इसके अलावा, सरकार ने विभिन्न शहरों, राज्य परिवहन उपक्रमों और राज्य सरकार की संस्थाओं को इंट्रासिटी ट्रांसपोर्टेशन के लिए 6,862 इलेक्ट्रिक बसों के साथ-साथ 7,432 इलेक्ट्रिक व्हीकल पब्लिक चार्जिंग स्टेशनों के लिए ऑयल मार्केटिंग कंपनियों को कैपिटल सब्सिडी के रूप में 800 करोड़ रुपये की मंजूरी दी है. इस नए रिवाइज्ड आउटले के बाद सब्सिडी के लिए 7,048 करोड़ रुपये आवंटित किए गए हैं, जिसमें से दोपहिया वाहनों को 5,311 करोड़ रुपये मिलेंगे. इलेक्ट्रिक बसों और चार्जिंग स्टेशन इंस्टॉल करने के लिए कुल अनुदान को भी संशोधित कर 4,048 करोड़ रुपये कर दिया गया है.

क्या बढ़ेगी FAME सब्सिडी की समय सीमा:

यहां यह ध्यान देना जरूरी है कि FAME II सब्सिडी एक टर्म-लिमिटेड स्कीम है जो कि 31 मार्च 2024 तक या फिर फंड रहने तक (जो भी पहले आए) लागू रहेगी. पिछले हफ्ते पेश हुए अंतरिम बजट (Interim Budget) में सरकार ने अगले वित्तीय वर्ष के लिए FAME योजना के लिए 2,671 करोड़ रुपये आवंटित करने का ऐलान किया था.

हालांकि अभी सरकार की तरफ से फेम सब्सिडी की समय सीमा को आगे बढ़ाने के बारे में कोई घोषणा नहीं की गई है. लेकिन चूकिं बजट के दौरान स्कीम में रकम को अगले वित्तीय वर्ष तक के लिए विस्तार दिया गया है इसलिए इसे एक संकेत माना जा रहा है कि सरकार फेम 2 सब्सिडी स्कीम को आगे बढ़ा सकती है.

क्या कहती है इंडस्ट्री:

इलेक्ट्रिक वाहनों की डिमांड और बिक्री देश में तेजी से बढ़ रही है, ख़ासकर दोपहिया और तिपहिया सेग्मेंट में. इलेक्ट्रिक वाहनों (ईवी) की कुल बिक्री में 2023 में 1.53 मिलियन यूनिट तक पहुंच गई जो 2022 में 1.02 मिलियन थी. ऐसे में इलेक्ट्रिक व्हीकल इंडस्ट्री का मानना है कि यदि सरकार FAME 2 सब्सिडी के तीसरे चरण के तौर पर आगे बढ़ाती है तो इससे इंडस्ट्री को ग्रोथ करने में और भी मदद मिलेगी. बता दें कि, फेम 2 स्कीम की समय सीमा 31 मार्च 2024 को खत्म हो जाएगी.

Source : Agency

आपकी राय

7 + 5 =

पाठको की राय