Lockdown 2.0: आप – हमारी जान की चिंता के साथ लॉकडाउन 2.0 का एलान आज

Lockdown 2.0: कोरोना कि महामारी से निपटने के लिए PM नरेंद्र मोदी सोमवार को देशव्यापी लॉकडाउन के दूसरे चरण का एलान कर सकते हैं। अर्थव्यवस्था को बनाए रखने के लिए भी अहम घोषणाएं हो सकती हैं। इसमें उद्योगों व सड़क परियोजनाओं समेत कोरोना मुक्त जिलों को शर्तों के साथ राहत दी जा सकती है। 

Lockdown 2.0
Lockdown 2.0

मंत्रियों ने प्रधानमंत्री को दिया सुझाव

बतादे मंत्रियों  कि बैठक में प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) को आंशिक तौर पर औद्योगिक संचालन व सड़क परियोजनाओं का निर्माण शुरू करने का सुझाव दिया है। हालांकि, उन्हें स्वास्थ्य मंत्रालय के नियमों व दिशानिर्देशों का सख्ती से पालन करना होगा। लॉकडाउन के पहले Step में देश को संक्रमण की रफ्तार थामने में कुछ कामयाबी जरुर मिली है।

आपको बतादे कि भारत कि अर्थव्यवस्था पर कोरोना कि वजह से बहुत ज्यादा असर पड़ा है। इस बात को लेकर पीएमओ ने मंत्रियों से सुझाव भी मांगे थे। हो कसता है कि इन सुझावों को पीएम अपनी घोषणा में शामिल कर सकते हैं। दूसरे Step में कृषि-उद्योग सहित कुछ क्षेत्रों को सामाजिक दूरी के पालन की शर्त पर छूट दी जाएगी। उद्योगो को नई व्यवस्था में कामकाज का ब्लूप्रिंट देना होगा। 

इन उद्योगों को मिल सकती है राहत 

भारत सरकार के सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्योग मंत्रालय के द्वारा एमएसएमई उद्योगों के लिए कुछ नियम बनाये गए है

एमएसएमई अर्थात (भारत सरकार के सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्योग मंत्रालय के द्वारा एमएसएमई उद्योगों के लिए कुछ नियम बनाये गए है) और बड़ी कंपनियां जिनके पास निर्यात के ऑर्डर हैं। भारी विद्युत उपकरण, कंप्रेसर, कंडेंसर यूनिट, दूरसंचार उपकरण निर्माता कंपनियां। स्टील लौह अयस्क मिलें, पावरलूम, रक्षा उत्पाद, सीमेंट प्लांट, कागज उद्योग, उर्वरक, बीज शोधन इकाइयां, सभी खाद्य व पेय पदार्थ, ऑटो पार्ट्स, प्लास्टिक उत्पाद।

ऐसा होगा लॉकडाउन 2.0

  • राज्य संक्रमण के आधार पर तीन Red Zone, Orange व Green तय करेंगे।
  • कलेक्टर-एसपी सर्वाधिक जवाबदेह होंगे। श्रमिकों के पलायन जैसे हालात पर सीधे जिम्मेदार होंगे। 
  • सोमवार से केंद्र समेत सभी राज्यों में मंत्री और आला अफसर Office में ही होंगे। कामकाज सुचारू होगा। 
  • बैंक-एटीएम समेत पहले से तय आवश्यक सेवाएं लॉकडाउन से छुट रहेंगी।
  • जहां हालात गम्भिर हैं,  उन राज्यों में औपचारिक एलान से पहले ही लॉकडाउन बढ़ गया है। 

जान के लिए…

  • लॉकडाउन व सामाजिक दूरी के लिए सख्ती जारी रहेगी। 
  • क्लस्टर कंटेंमेंट से हॉटस्पॉट्स पर संक्रमण रहित होंगे। 

जहान के लिए… 

  • सुरक्षा स्टोर : जरूरी सामान के लिए 20 लाख स्टोर बनेंगे। कंपनियों की मदद से पहले से मौजूद किराना दुकानें तय होंगी। ई-कॉमर्स को भी छूट।
  • विद्यार्थी : शैक्षणिक संस्थाएं नए सत्र में ही खुलेंगे। उच्च, तकनीकी व मेडिकल शिक्षा ऑनलाइन। वैविनार व दूरदर्शन का भी उपयोग होगा।
  • किसान : खेत तक पहुंच आसान होगी। मंडी परिषद गांव या घर से खरीद सुनिश्चित करेगी।
  • उद्योग : बड़े उद्योग व एमएसएमई प्रोटोकॉल का पालन व मजदूरों के रहने-खाने के इंतजाम के साथ सशर्त काम शुरू कर सकेंगे।

लॉकडाउन जल्द हटाया तो और घातक : डब्ल्यूएचओ

जानकारी देदे कि लॉकडाउन हटाने या ढील देने पर भारत समेत समस्त विश्व की सरकारें विचार कर रही हैं। इसके मद्देनजर, विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के महानिदेशक टेड्रोस घेब्रेयसस ने कहा, अगर लॉकडाउन जल्द हटाया गया तो हालात सुधरने के बजाय और बहुत ज्यादा बिगडे़ंगे।पुरी दुनिया को खतरनाक भयंकर अंजाम से भुगतना पड़ सकता है, महामारी कई गुना ज्यादा व्यापक और घातक रूप से फिर से पैर पसार सकती है।

भारत के पांच ऐसे राज्य जहाँ सबसे ज्यादा कोरोना का प्रभाव और उनका एनालिसिस अबादी वाले देश से…

Leave a Comment