ShivSena may stop in Maharashtra, PM Modi dream bullet train

महाराष्ट्र मे शिवसेना रोक सकती है, पीएम मोदी का सपना ‘बुलेट ट्रेन’

राजनीति

नमस्कारदोस्तो; आपको बता दे कि महाराष्ट्र मे शिवसेना ओर भाजपा के बिच अभी तक बातचीत जारी है,कि महाराष्ट्र मे किसकी बनेगी सरकार। इसके चलते एक ओर नया फेसला सामने आया है। इस नये फेसले के चलते महाराष्ट्र में अगर कांग्रेस-एनसीपी और शिवसेना गठबंधन की सरकार बनती है, तो पीएम नरेन्द्र मोदी (ShivSena stop Modi dream bullet train) की महात्वाकांक्षी बुलेट ट्रेन परियोजना पर रोक लग सकती है। ओर पीएम नरेंद्र मोदी का सपना पुरा होने से रुक सकता है।

ShivSena may stop in Maharashtra, PM Modi dream bullet train

सुत्रो के मुताबिक आपको बता दें कि बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (ShivSena stop Modi dream bullet train) के सारे सपनो मे से यह  सपना प्रमुख माना जाता है। देश की पहली बुलेट ट्रेन अहमदाबाद से मुंबई के लिए चलाई जाएगी। ये ट्रेन जापान की मदद से तैयार की जा रही है। लोकसभा चुनाव के पहले पीएम मोदी और जापानी प्रधानमंत्री शिंजो आबे ने इस प्रोजेक्ट की नींव रखी थी।

नोरा फतेही के नए ‘पेपेटा’ लुक ने मचाया धमाल, देखे क्या खास है इस लुक मे…

कुछ प्रमुख जानकारी

कांग्रेस से जुड़े कुछ सूत्रों के मुताबिक एनडीटीवी ने बताया कि इस नए गठबंधन के नेता इस योजना से महाराष्ट्र सरकार का हाथ खींचने की कोशिस कर रहे हैं। इस बुलेट ट्रेन परियोजना की कुल लागत एक लाख करोड़ रुपये है। सितंबर वर्ष 2017  में पीएम मोदी और जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे ने बुलेट ट्रेन परियोजना की आधारशिला रखी थी। जापान ने इस प्रोजेक्ट के लिए भारत से 0.1 प्रतिशत ब्याज पर  88,000 करोड़ रुपये का लोन भी दिया है।

दिसंबर से मोबाइल इंटरनेट होने जा रहा है महंगा, जाने ऐसा क्यो ?

गौरतलब है कि अहमदाबाद से मुंबई के बीच चलने वाली इस बुलेट ट्रेन की गति 350 किलोमीटर प्रतिघंटा होगी। इस परियोजना को साल 2023 तक पूरा कर लिए जाने का लक्ष्य है. राष्ट्रीय तीव्र गति रेल निगम ने इस परियोजना के लिए 48 फीसदी तक भूमि अधिग्रहण कर लिया है और कई कामों के लिए ठेके भी जारी कर दिए हैं।

कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता ने कहा,

जानकारी के अनुसार आपको बता दे कि, महाराष्ट्र मे कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता ने एनडीटीवी से कहा कि सरकार को इस परियोजना का पूरा खर्च वहन करना चाहिए। महाराष्ट्र इसमें कोई भी खर्च नहीं उठा पाएगा। किसानों के कल्याण और कर्जमाफी के मुद्दे भी प्रमुख हैं।

‘पति पत्नी और वो’ का धमाकेदार गाना रिलीज़ ‘अंखियों से गोली मारे’

वहीं इस मुद्दे पर एनसीपी के एक नेता ने कहा कि, मुंबई में तीनों पार्टियों के नेताओं की पहली बैठक में इस परियोजना पर भी चर्चा हुई है जिसमें बताया गया कि 1.08 लाख करोड़ की लागत वाली इस परियोजना में महाराष्ट्र 5,000 करोड़ रुपये का खर्च वहन करेगा. उन्होंने कहा, ‘हम इस निष्कर्ष पर पहुंचे  हैं कि एक बार सरकार बन जाने के बाद हम केंद्र को सूचित करेंगे कि महाराष्ट्र इस परियोजना पर खर्च करने के बजाए इतना ही पैसा लोगों के कल्याण में खर्च करे’।

Leave a Reply