Schools to Open In July

UnlockIndia: जुलाई में खुलेंगे स्कूल, एक दिन में 33 से 50 फीसदी बच्चे ही आ सकेंगे

देश

 UnclockIndia: कोरोना संकट कि वजह से देश कि कार्यशिलता मे आई रुकावट अब देश के भविष्य को आगे बढने से कोई नही रोक सकता। कोरोना संकट के चलते मार्च से बंद स्कूल अब बहुत हि जल्द खुल सकते है।

Schools to Open In July
Schools to Open In July

15 जुलाई में खुलेंगे स्कूल

15 जुलाई के बाद खुल सकते हैं। मानव संसाधन एव् विकास मंत्रालय स्कूलो में पढ़ाई के लिए गाइडलाइंस तैयार कर रहा है, अब जल्द हि जारी हो सकती है। खबरो के मुताबिक, एक दिन में 33% या 50% बच्चे ही स्कूल जाएंगे। उपलब्ध संसाधनों के आधार पर राज्य सरकार और स्कूल प्रशासन तय करेंगे कि कितने बच्चे बुलाने हैं।

33% या 50% का फॉर्मुला

छात्रो की संख्या के आधार पर हाथ धोने की सुविधा, टायलेट, पीने के पानी के नल आदि बढ़ाने पड़ सकते हैं। 50% छात्रो का फार्मूला लागू करने वाले स्कूलों में छात्र सप्ताह में तीन और 33% का फॉर्मूला लागू करने वाले स्कूलो में सप्ताह में 2 दिन ही स्कूल जाएंगे। बाकी दिन ऑनलाइन पढ़ाई होगी।

जून के अंतिम सप्ताह में गाइडलाइंस का रिव्यू होगा


संक्रमण की स्थिति के आधार पर जून के अंतिम सप्ताह में गाइडलाइंस का रिव्यू हो जायेगा। उसके आधार पर स्कूल खोलने की तारीख में बदलाव भी हो सकता है। स्कूल खोलने या नहीं खोलने का अंतिम फैसला भी राज्य और स्कूल प्रशासन अपने स्तर पर ही लेंगे।

मानव संसाधन मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा कि गाइडलाइन्स में स्कूलों में सोशल डिस्टेंसिंग और सैनिटाइजेशन का ख्याल रखा जाएगा। प्राइवेट स्कूलों के संगठन एक्शन कमेटी ऑफ एनऐडड रिकाग्नाइज्ड प्राइवेट स्कूल्स के जनरल सेक्रेटरी भरत अरोड़ा ने कहा कि गाइडलाइंस मिलते ही वे एसओपी तैयार कर लेंगे। उधर, दिल्ली पेरेंट्स एसोसिएशन की अध्यक्ष अपराजिता गौतम ने कहा कि संक्रमण कम नहीं होता है तो स्कूल नहीं खोलने चाहिए।

एक से ज्यादा एंट्री-एग्जिट पाइंट


स्कूल खुलने से पहले दो हफ्ते तक टीचिंग और नॉन टीचिंग स्टाफ को सोशल डिस्टेंसिंग और सैनिटाइजेशन की ट्रेनिंग दी जाएगी। बच्चों को भी स्कूल में ध्यान रखी जाने वाली बातो की ट्रेनिंग दी जाएगी। स्कूल में एक से ज्यादा एंट्री-एग्जिट पाइंट बन सकते हैं। हर क्लास के लिए टॉयलेट और पानी पीने की जगह तय कि जाएगी। दूसरे छात्र वहां नहीं आ सकेंगे। अगर किसी क्लास में कोई संक्रमित मिला तो इस व्यवस्था के चलते सिर्फ एक क्लास के बच्चे ही क्वारैंटाइन करने पड़ेंगे।

Leave a Reply