For SPG and Z + security of PM Modi

PM मोदी की SPG और Z+ सुरक्षा के लिए, एक दिन में खर्च होते है इतने करोड़

देश

SPG security; जैसा की आप को बता दे की हिंदुस्तान में SPG (Special Protection Group) सुरक्षा सिर्फ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi )और सीआरपीएफ की सुरक्षा 56 लोगों को मिली हुई है| इस  साल 2020  के बजट में एसपीजी के लिए मिलने वाले फंड में 10 प्रतिशत की बढ़ोतरी की  गयी  है|इस की स्थापना सन 30 मार्च 1985 को की गई थी|

For SPG and Z + security of PM Modi

भारत में सिर्फ पीएम को ही मिलती है इसकी सुरक्षा…

2020 में पेस किये गये बजट में SPG के फंड में 10 फीसदी की बढ़ोतरी की गयी है , भारत  में सिर्फ प्रधानमंत्री को ही  SPG  सुरक्षा मिली हुई है | इस विषय में संसद में एक कानून बनाया गया है की अब केवल देश के प्रधानमंत्री को ही SPG सुरक्षा दी जायेगी |एसपीजी सुरक्षा का सबसे ऊचा स्तर होता है | इसमें तैनात कमांडो के पास आधुनिक हथियार और संचार उपकरण होते है |

आप को बता दे की गाँधी परिवार की SPG सुरक्षा पहले ही केंद्र सरकार ने हटा दी है | केंद्र सरकार ने राहुल गाँधी ,सोनिया गाँधी ,और प्रियंका गाँधी वाड्रा की एसपीजी सुरक्षा पहले ही हटा दी है | यह फैसला ग्रह मंत्रालय की बैठक में लिया गया था | अब सिर्फ भारत में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के पास ही एसपीजी सुरक्षा है | गाँधी परिवार के सदस्यों की एसपीजी सुरक्षा हटा कर CRPF की Z+ सुरक्षा प्रदान की गई |   अलग-अलग पदों पर अन्य व्यवस्था प्रदान की जाती है|

एक दिन में इतने करोड़ खर्च होते है

आपको बतादे कि  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की एसपीजी की (SPG) सुरक्षा में 24 घंटे में खर्च होते हैं 1 करोड़ 62 लाख रुपये, जानकारी के अनुसार केंद्रीय गृह मंत्रालय ने संसद में दिए एक लिखित जवाब में इसकी जानकारी दी|  हिंदुस्तान में अब सिर्फ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ही स्पेशल प्रोटेक्शन ग्रुप (SPG) सुरक्षा मिली हुई है| इस संबंध में संसद ने कानून बनाया है, जिसमें प्रावधान किया गया कि सिर्फ देश के प्रधानमंत्री को एसपीजी सुरक्षा दी जाएगी | प्रधानमंत्री पद से हटने के बाद 5 साल तक एसपीजी सुरक्षा रहेगी और फिर हटा ली जाएगी |

 उन वीआईपी (VIP)लोगों की भी जानकारी नहीं दी, जिनको सीआरपीएफ की सुरक्षा मिली हुई है|किशन रेड्डी ने सुरक्षा कारणों का हवाला देते हुए यह भी नहीं बताया गया कि साल 2014 के बाद किन वीआईपी लोगों की सीआरपीएफ सुरक्षा हटाई गई और किन लोगों को दी गई| उन्होंने केवल इतना बताया कि सिर्फ 56 लोगों को सीआरपीएफ सुरक्षा दी गई है| हालांकि डीएमके सांसद दयानिधि मारन ने जिन लोगों को सीआरपीएफ सुरक्षा मिली है, उन लोगों की जानकारी भी मांगी थी|

SPG सुरक्षा के लिए साल 2020-21 में इतने करोड़ का बजट पेश किया गया है ?

एसपीजी सुरक्षा को लेकर संसद में सवाल उस समय उठाया गया, जब बजट में एसपीजी सुरक्षा के लिए आवंटित फंड में 10 फीसदी का इजाफा किया गया| साल 2020-21 के लिए एसपीजी के लिए 592.55 करोड़ रुपये बजट आवंटित किया गया है| पिछली बार बजट में एसपीजी के लिए 540.16 करोड़ रुपये के फंड का आवंटन किया गया था, तब चार लोगों को एसपीजी सुरक्षा मिली थी यानी एक व्यक्ति की सुरक्षा में 135 करोड़ रुपये का खर्च आता था|

यह भी पड़े : 20 ऐसे रोचक तथ्य जिन्हें जानना जरुरी जिसके बिना आप साँस भी नहीं लेते हों…

Leave a Reply