what is Fastag

क्या है FASTags? क्यो दिसम्बर से वाहनो में लगाना होगा जरूरी…?

देश

नमस्कार दोस्तो: कुछ समय पहले सरकार ने MOTOR vehicle Act देश्भर में लागू किया थाऔर अब FASTags जिसे 31 दिसम्बर सभी वाहनो के लिए अनिवार्य किया जा रहा है। क्या है FASTags? क्यो किया जा रहा है अनिवार्य?… FASTags मे माध्यम सेकैश के बगैर इलेक्ट्रानिक ढंग से टोल-टेक्स का भुगतान जा सकता है।

What is FASTags why compulsory

लम्बे अरसे के बाद प्रीती जिंटा ‘दबंग 3’ में नजर आएंगी यह, है किरदार..

अब फास्टैग शीघ्र अति शीघ्र ही पेट्रोल पंपों पर भी मिलेगा और इससे पेट्रोल व पार्किंग शुल्क का भुगतान भी आसानी से किया जा सकेगा। इसके अलावा स्टेट हाईवे, नेशनल हाईवे तथा टोल प्लाजाओं पर भी फास्टैग के माध्यम से टोल स्वीकार किया जाएगा। सरकारी एजेंसियां पुरी तरह से इसकी तैयारियों में लगी हैं।

नेशनल इलेक्ट्रानिक टोल कलेक्शन(National Electronic Toll Collection | NPCI) प्रोग्राम के तहत भारत सरकार ने 31 दिसंबर, 2019 से पूरे देश में सभी प्रकार के मोटर वाहनों में फास्टैग अनिवार्य कर दिया है। इसमें किसी तरह कि असुविधा ना हो इसके लिए सरकार ने फास्टैग की उपलब्धता बढ़ाने के इंतजाम किए हैं ताकि अंतिम समय में अचानक भीड़ बढ़ने से दिक्कत न हो।

विंडशील्ड पर चिपकाना होता है फास्टैग

आपको बतादे कि फास्टैग इस्तेमाल में आसान है। यह एक साधारण रेडियो फ्रीक्वेंसी आइडेंटिफिकेशन (RFID)टैग है जिसे vehicle के आगे के शीशे यानी विंडशील्ड पर चिपकाना होता है।

FASTags कैसे काम करता है

जब फास्टैग लगा वाहन टोल प्लाजा से गुजरता है तो वहां लगा इलेक्ट्रानिक उपकरण चालक के अकाउंट से आटोमैटिक तरीके से टोल काट लेता है। इस व्यवस्था ने कैश में भुगतान के समस्याए को पूरी तरह खत्म कर दिया है।

528 से ज्यादा टोल प्लाजाओं पर फास्टैग की सुविधा

What is FASTags why compulsory

Bole Chudiyan Teaser रिलीज, देख़े नवाजुद्दीन सिद्दीकी का रोमांस

NPCI की चीफ आपरेटिंग आफीसर प्रवीना राय का कहना है कि,’नेशनल इलेक्ट्रानिक टोल कलेक्शन प्रोग्राम के तहत हमारा प्राथमिक फोकस फास्टैग है। और आने वाले दो वर्ष से भी कम समय में यह पूरी तरह इंटरऑपरेटेबल हो गया है।  आपको बतादे कि अक्टूबर’19 में फास्टैग लगे वाहनो से 3.1 करोड़ से अधिक फेरों में 702.86 करोड़ रुपये का टोल वसूला गया। इससे पहले सितंबर’19 में 29.01 फेरों में 658.94 करोड़ रुपये टोल की वसूली की गई थी। फिलहाल इस प्रणाली से जुड़े 23 बैंक फास्टैग इश्यू कर रहे हैं। जबकि 10 बैंक फास्टैग का भुगतान प्राप्त कर रहे हैं। आज की तारीख में राष्ट्रीय राजमार्गो पर स्थित 528 से ज्यादा टोल प्लाजाओं पर फास्टैग के माध्यम से टोल एकत्र किया जा रहा है।’

कहां से खरीदा जा सकता है फास्टैग

आपको बतादे कि पहले दिसंबर, 2017 से देश में बनने वाली सभी नई कारों में फास्टैग company कि ओर से लगकर आ रहा है।आप अभी अधिकृत बैंक शाखाओं के अलावा टोल प्लाजाओं, रिटेल पीओएस लोकेशंस के अलावा बैंकों व ई-कामर्स वेबसाइटों तथा माई फास्टैग ऐप के द्वारा से भी फास्टैग खरीद सकते है। साथ ही कम से कम 100 रुपये की राशि से रिचार्ज करावाया जा सकता है। जल्द हि यह फास्टैग सुविधा पेट्रोल पंपों पर भी मिलेगा। यही नहीं, आने वाले समय में इसके द्वार टोल ही नहीं, बल्कि पेट्रोल-डीजल-सीएनजी और पार्किंग शुल्क का भुगतान भी संभव हो सकेगा।

registered मोबाइलनंबरपरआएगा SMS

इस सुविधा अर्थात इलेक्ट्रानिक टोल कलेक्शन को बढ़ावा देने के लिए NPCI ने 31 मार्च, 2020 तक फास्टैग का उपयोग करने पर 2.5% तक के कैशबैक की व्यवस्था की जा रही है। इसके तहत जब कोई वाहन चालक इलेक्ट्रानिक टोल प्लाजा से गुजरेगा, उसके बैंक एकाउंट से टोल की राशि कट जाएगी। परंतु कुछ सेकंड बाद बाद 2.5% राशि खाते में आ जाएगी। और वाहन चालक के पंजीकृत मोबाइल नंबर पर इसका SMS भी आ जायेगा है।

फिल्म पागलपंती का Honey Singh ने गाया नया गाना ‘ठुमका’, हो रहा वाइरल

Leave a Reply