Cyber Attack In India

अब भारत पर साइबर हमले कि पुरी तैयारी, हैकर्स के पास भारतीय युज़र्स के 20 लाख से ज्यादा का डाटा

देश/दुनिया

Cyber Attack In India: भारत पर काली छाया मंडराती नज़र आ रही है।बॉर्डर के अलावा अब भारत पर साइबर हमले का खतरा मंडरा रहा है। साइबर अटैक ये खतरा बहुत हि भयंकर होता है। आपको जानकारी देदे कि इस बात की चेतावनी (CERT) साइबर इंटेलिजेंस फर्म साइफार्मा ने दी है।

Cyber Attack In India

चीन इस रणनीति से करेगा भारत Cyber Attack

साइफार्मा कि जानकारी के मुताबिक, चीन के हैकर्स ने भारतीय सरकारी एजेंसियों और प्राइवेट कंपनियों की एक हिट लिस्ट तैयार की है। ये उन कंपनियों की लिस्ट है, जिस पर चीनी हैकर साइबर अटैक करने की पुरज़ोर तैयारी में हैं।  

भारत के खिलाफ तैयारी-

आपको बतादे कि भारत के लिए उत्तर कोरिया (south korea) के expert हैकर्स ने एक ncov2019@gov.in ईमेल आईडी बनाई है। इन हैकर्स के पास भारत के लगभग 20 लाख से ज्यादा लोगों के ईमेल आईडी होने का दावा किया जा रहा हैं। इस आईडी से दिल्ली, मुंबई, अहमदाबाद, हैदराबाद और चेन्नई के लोगों को टारगेट किया जाएगा जिसमे कुछ भी Mail भेजा जा सकता है।  

यह भी देखे: सपना चौधरी के ‘मेरे जिगर का टुकड़ा’ गाने ने सभी को किया दीवाना

इस प्रकार के ईमेल आ सकते है आपको भी

परन्तु Email Id से ऐसा आकलन लगाया जा रहा है कि फ्री कोविड टेस्ट कराने का मेल भेजे जाने की तैयारी है, ताकि लोग ईमेल पर अपनी निजी जानकारियां और भी ज्यादा अच्छे से  साझा कर दें। हालांकि, चीनी हैकर्स के पास भारतीय कंपनियों की लिस्ट है, जिसमें ज्यादातर मीडिया कंपनियां शामिल हैं।

चीन, पाकिस्तान के निशाने पर भारत

ऑनलाइन सिक्योरिटी फर्म सिमेंटेक कॉर्प (Online security firm Symantec Corp) की रिपोर्ट का दावा यह रहा है कि अमेरिका के बाद सबसे ज्यादा साइबर हमले झेलने वाला देश भारत ही है। 2016 से 2018 के बीच अमेरिका पर 255 और भारत पर 128 हमले हुए थे। भारत पर जो साइबर अटैक होते हैं, वो चीन, पाकिस्तान, रूस, यूक्रेन, वियतनाम और उत्तर कोरिया की तरफ से सबसे ज्यादा होते हैं। 

चीनी हैकर्स भारत परकिस तरह कर सकते हैं साइबर अटैक?

ईमेल के माध्यम से दिए जवाब में साइफार्मा ने बताया कि चीन 4 तरीकों से भारत पर साइबर अटैक कर सकता है चीन

  • वेबसाइट डिफेंसिग: इसमें सरकारी वेबसाइट को हैक कर उनका विजुअल अपीयरेंस बदल दिया जाता है।
  • फिशिंग या स्पीयर फिशिंग अटैक: इसमें हैकर ईमेल या मैसेज के जरिए लिंक भेजते हैं, जिस पर क्लिक करते ही डेटा लीक हो जाता है।
  • बैकडोर अटैक : इसमें हैकर कम्प्यूटर में एक मालवेयर भेजा जाता है, जिससे यूजर की सारी इन्फोर्मेशन मिल सके।
  • हनी ट्रैपिंग : दूसरे देश के जासूस, हमारे देश के हाई लेवल के अधिकारियों से बात करने की कोशिश करते हैं और जानकारी निकलवाने की कोशिश करते हैं। या तो सोशल मीडिया पर फेक प्रोफाइल बनाकर या तो उनके साथ काम करने वाले किसी साथी की आईडी हैक कर सकते हैं।





Leave a Reply