Russian police and Syria commando squad look so beautiful

ड्यूटी पर ब्यूटी: रूसी पुलिस और सीरिया कमांडो दस्ते दिखती है इतनी खूबसूरती … बॉलीवुड एक्ट्रेस कि कोई वेल्यू नहीं इनके सामने ?

देश/दुनिया

ड्यूटी पर ब्यूटी, आपको बतादे दोस्तो कि विश्व मे कई खूबसूरत महिलाए है। जिनमें से रुसी पुलिश ओर सीरिया कमांडो इतनी खूबसूरत है। इन महिलाओं को अपनी खूबसूरती के साथ-साथ दूसरे लोगों की भी सुरक्षा की जिम्मेदारी निभानी पड़ती है। और ड्यूटी पर ब्यूटी इनमें से कुछ के बड़े-बड़े प्रशंसक भी है जिसमें बॉलीवुड एक्ट्रेस कि चमक भी फिकी पड जाती है, जिनके सोशल साइट्स पर लाखो फोलोअर भी है।

Syria commando squad

चलिए आपको के साथ साझा कर दे कि रुस और कुछ इस्लामिक स्टेट में ऐसी खूबसूरत महिला पुलिसकर्मी सड़क पर देखने को मिल ही जाती है। रुस में जहां ये महिलाएं पर्यटकों की सुरक्षा में लगाई गई हैं वहीं इस्लामिक स्टेट में ये लड़ाकी दुश्मनों के दांत खट्टे करने के लिए इस्तेमाल की जाती हैं। आज हम आपको दो ऐसे ही देशों की इन महिला ब्रिगेड के बारे में बताएंगे जो देखने में बला की खूबसूरत हैं और दूसरों की सुरक्षा की जिम्मेदारी निभा रही हैं। 

Russian police and Syria commando squad

अनुष्का और विराट कोहली के साथ घूमने निकले यह शख्स, मना रहे जीत का जश्न

रूस पुलिस में कुल कर्मचारियों में महिलाओं का 30 फीसद ही है। इन 30 फीसद में कुछ बहुत ही खूबसूरत महिला पुलिसकर्मी शामिल हैं। बतादे कि इनको यहां पर्यटकों की सुरक्षा में लगाया गया है। ये महिलाएं इन पर्यटक स्थलों पर तैनात रहती हैं, इनकी खूबसूरती का अंदाजा ऐसे ही लगाया जा सकता है कि यहां घूमने के लिए आने वाले अधिकतर लोग इनके साथ फोटो खिंचवाना पसंद करते हैं।

इनके नाम ओक्साना, जूलिया, और डारिया है, इनमें से दो मास्को के सबसे अधिक पर्यटन स्थलों पर सुरक्षा की पूरी जिम्मेदारी निभाती है डारिया घुड़सवार गश्ती पुलिस दल में काम करती है।

 जानकारी देदे कि डारिया खूबसूरत होने के साथ-साथ सोशल साइट इंस्टाग्राम पर भी एक्टिव रहती है, वहां पर उनके 50 हजार से अधिक फैन फालोवर भी हैं।  

Russian police

Russian police and Syria commando

Syria commando squad

पूर्व गृह मंत्री पी. चिदंबरम की CBI हिरासत ख़त्म, राउज एवेन्यू कोर्ट में किया जाएगा पेश

सुरक्षा पर तैनात रहने के दौरान इनको तरह-तरह की बातें सुननी पड़ती है। कई बार घूमने के लिए परिवार के साथ आए लोग इनके साथ अलग-अलग पोज में फोटो खिंचवाने की गुजारिश करते हैं। इनमें से कुछ को विश्व कप फुटबाल मैच के दौरान डयूटी पर लगाया गया था, वहां पर भी उनको फोटो खिंचवाने और कमेंट सुनने जैसी दिक्कतों का सामना करना पड़ा था। ये तीनों अपने साथ हुई इस तरह की घटनाओं को याद भी करती रहती हैं।

कमांडो दस्ते की खूबसूरती

उधर सीरिया ने भी अपने कमांडो दस्ते में खूबसूरत महिलाओं को शामिल किया है। महिला कमांडो का ये दस्ता, आतंकियों के मुख्य गढ़ में उनको अपना लौहा मनवा रही है। इन खूबसूरत योद्धाओं का नाम दुनिया की सबसे खतरनाक योद्धाओं में शामिल है। इन महिला कमांडो का नाम कुर्द लड़ाकों में शामिल है। इन्हें सीरिया के सीमावर्तनी इलाकों में इस्लामिक स्टेट (IS) के खिलाफ मोर्चे पर तैनात किया गया है। इस्लामिक स्टेट के लड़ाकों से मुकाबला करने के लिए इन्हें गर्म व पथरीले रेगिस्तान में युद्ध की सबसे कठिन ट्रेनिंग भी दी जाती है।

कितना भी मुकाबला हो उससे मुकाबला करने के लिए इन महिला कमांडो को हर तरह के हथियार और गोला-बारूद का प्रशिक्षण दिया गया है। इराक की ये बहादुर कुर्दिश महिलाएं, कुर्दिश पेशमेर्गा फाइटर्स में शामिल हैं। इराक के बर्लिन में इन्हें सैन्य प्रशिक्षण दिया जाता है। IS लड़ाकों ने कभी सोचा भी नहीं होगा कि कुर्द दस्ते की ये लड़कियां उन पर इस कदर भारी पड़ेंगी। 

इन कुर्द कमांडो दस्ते ने चरमपंथियों के दांत खट्टे कर दिए हैं। इस्लामिक स्टेट का मुकाबला करने के लिए अमेरिका और जर्मनी भी इन कुर्द लड़ाकों को कई तरह के प्रशिक्षण दे चुका है। अलग-अलग देशों से आयी सारी लड़कियां अलग कुर्दिस्तान देश का सपना देखती हैं। कुछ महीनों की ट्रेनिंग के बाद इन्हें अलग-अलग फ्रंट पर आईएस लड़ाकों से मुकाबला करने के लिए भेजा जाता है।

प्यारी मां, मेरे लिए आंसू मत बहाना

Russian police and Syria commando squad

प्रशिक्षण के दौरान इन जांबज सीरिया कमांडो को एक गीत बार-बार सुनाया और याद कराया जाता है, जिसके बोल हैं ‘प्यारी मां, मेरे लिए आंसू मत बहाना। मैं मातृभूमि पर मिटने के लिए तैयार हूं। मैं दुश्मन को मिटाने जा रही हूं।’ इस गीत का इस्तेमाल इन कमांडो दस्ते में देशभक्ति और बलिदान की भावना पैदा करने के लिए किया जाता है।

कुर्द, एक विवादास्पद इलाका है कुर्द की इन महिला लड़ाकों ने बताया कि वह दो मोर्चे पर लड़ रही हैं। पहला दुश्मन और दूसरा यौन हिंसा। कुर्द लड़ाके महिलाओं और पुरुषों के बीच भेदभाव नहीं करते हैं। महिला कुर्द लड़ाका कहती हैं कि वह किसी से कमजोर नही हैं। वह किसी भी परिस्थिति में और कहीं भी लड़ सकती हैं।

 इस महिला को मारने का 10 लाख डॉलर का ईनाम

2017 में आईएस ने इन्हीं कुर्द लड़ाकों में शामिल एक 23 वर्षीय लड़की जोआना पलानी को मारने पर 10 लाख डॉलर का ईनाम रखा था। इस लड़की ने अकेले आईएस के 100 से ज्यादा आतंकियों को ठिकाने लगाया है। कुर्दिश मूल की डैनिश महिला पलानी ने 2014 में पढ़ाई छोड़ दी थी। इसके बाद वह आईएस के खिलाफ जंग में उतर गई।  

अनुष्का और विराट कोहली के साथ घूमने निकले यह शख्स, मना रहे जीत का जश्न

Leave a Reply