facebook penalty

फेसबुक पर AFTC ने 34 हजार करोड़ के जुर्माने की सिफारिश, किसी टेक कंपनी पर सबसे बड़ी पेनल्टी

देश/दुनिया

नमस्कार दोस्तो, अमेरिकी  फेडरल ट्रेड कमीशन AFTC ने डेटा लीक मामले में फेसबुक पर 5 अरब डॉलर (करीब 34 हजार करोड़ रुपए) के जुर्माने की सिफारिश की है।  बतादे कि किसी टेक कंपनी पर यह अब तक की सबसे बड़ी पेनल्टी होगी। इससे पहले 2012 में गूगल पर 154 करोड़ रुपए का जुर्माना लगा था।

facebook penalty
  • यूएस के फेडरल ट्रेड कमीशन ने यह सिफारिश की, इससे पहले 2012 में गूगल पर 154 करोड़ रुपए का जुर्माना लगा था।
  • फेसबुक के जुर्माने पर अंतिम फैसला अमेरिकी न्याय विभाग करेगा|
  • 2018 के कैम्ब्रिज एनालिटिका डेटा लीक विवाद की जांच में एफटीसी ने फेसबुक को दोषी पाया

फेसबुक के जुर्माने पर अंतिम फैसला अमेरिकी न्याय विभाग करेगा। मार्च 2018 में फेसबुक के डेटा लीक का सबसे बड़ा मामला सामने आया था। AFTC ने फेसबुक को यूजर्स के डेटा की प्राइवेसी और सुरक्षा में चूक का दोषी करार दिया है।

ब्रिटिश कंसल्टेंसी फर्म कैम्ब्रिज एनालिटिका को डेटा लीक करने के मामले में फेसबुक के सीईओ मार्क जकरबर्ग की अमेरिकी संसद में भी पेशी हुई थी। उसके बाद एफटीसी ने जांच शुरू कर दी थी।

फेसबुक ने अपने खिलाफ जांच शुरू होने के बाद ही कानूनी समझौते के लिए 3 से 5 अरब डॉलर के सेटलमेंट का प्रस्ताव रखा था। एफटीसी ने भी मामले की जांच खत्म करने के लिए इन्हीं शर्तों के तहत कंपनी पर जुर्माने की रकम तय की। हालांकि, पेनल्टी की रकम फेसबुक के 2018 के रेवेन्यू के मुकाबले सिर्फ 9% है।

क्या था कैम्ब्रिज एनालिटिका डेटा लीक विवाद?

ब्रिटिश कंसल्टेंसी फर्म कैम्ब्रिज एनालिटिका ने फेसबुक के 8.7 करोड़ यूजर्स का डेटा हासिल किया था। फेसबुक को इस बात की जानकारी थी। कैंब्रिज एनालिटिका ने फेसबुक यूजर्स के डेटा का इस्तेमाल 2016 के अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव को प्रभावित करने के लिए किया था। एफटीसी के अलावा अमेरिकी शेयर बाजार का रेग्युलेटर सिक्योरिटीज एंड एक्सचेंज कमीशन और डिपार्टमेंट ऑफ जस्टिस भी जांच कर रहे हैं।

प्राकृतिक सौंदर्य: एशिया का सबसे सुंदर गावं मौलिनोंग, जहाँ लगती है एंट्री फिस ओर बेटी होती है उत्तराधिकार !

Leave a Reply